देश में कोई भी मोबाइल बैंकिंग ऐप सुरक्षित नहीं: क्वालकॉम - Security level in mobile banking app, Tech News in Hindi



केंद्र सरकार जहाँ देश में मोबाइल फोन के जरिए डिजिटल पेमेंट्स को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है, वहीं मशहूर चिपसेट मेकर कंपनी क्वालकॉम का कहना है कि भारत में कोई भी मोबाइल ऐप सुरक्षित नहीं है। अपने आप में यह दावा आश्चर्यजनक है, किन्तु यह सच है। इस सम्बन्ध में, कंपनी का कहना है कि भारत में कोई भी वॉलेट और मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन हार्डवेयर लेवल सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल नहीं करता है, जिससे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन्स को अधिक सुरक्षित रखा जा सके। प्रकाशित ख़बरों के मुताबिक, क्वालकॉम के सीनियर डायरेक्टर प्रॉडक्ट मैनेजर एसवाई चौधरी ने कहा, 'आपको आश्चर्य होगा कि दुनिया भर के अधिकतर बैंकिंग और वॉलेट ऐप्स हाईवेयर सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल नहीं करते। वे पूरी तरह एंड्रॉयड मोड में चलते हैं और यूजर्स के पासवर्ड को आसानी से चुराया जा सकता है। यही नहीं, बल्कि यूजर्स के फिंगरप्रिंट्स को भी कैप्चर किया जा सकता है। जाहिर तौर पर, भारत में डिजिटल वॉलेट्स और मोबाइल बैंकिंग ऐप्स के लिए यह बड़ी चिंता है।' चौधरी ने यह भी कहा कि भारत के सबसे मशहूर डिजिटल पेमेंट ऐप्लिकेशन के द्वारा भी हार्डवेयर लेवल सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल नहीं किया जाता। गौरतलब है कि मार्केट रिसर्च फर्म स्ट्रैटजी एनालिटिक्स के मुताबिक मोबाइल चिपसेट मार्केट में क्वालकॉम 37 पर्सेंट शेयर के साथ दुनिया में सबसे आगे है। उन्होंने कहा, 'जब आप किसी ऐप को डाउनलोड करते हैं तो आप यह नहीं जानते कि वह हार्डवेयर लेवल सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल कर रहा है या नहीं।' चौधरी ने यह भी कहा कि क्वालकॉम डिजिटल पेमेंट कंपनियों से संपर्क कर रही है, ताकि मोबाइल पेमेंट को सुरक्षित बनाया जा सके। क्वालकॉम के अधिकारी ने कहा, 'हम चिपसेट्स में लोगों को पूरी सिक्यॉरिटी प्रोवाइड कर रहे हैं। यह लेयर मोबाइल फोन में ट्रांजैक्शंस को ऑपरेटिंग सिस्टम से अलग करती है। यह ट्रांजैक्शन में किसी मालवेयर इफेक्ट पर भी नजर रखती है।'
- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...


मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)

No comments