ऑनलाइन मार्केटिंग से कमाई एवं सावधानियां - Earning through Online Marketingand Precautions

कई मित्रों ने फेसबुक पर, कई ने फोन करके मुझे पूछा कि फेसबुक से कमाई कैसे होगी. आखिर उनका काफी सारा समय इस प्लेटफॉर्म पर यूँही व्यतीत हो जाता है. जो कुछ मैंने उन्हें अलग-अलग बताया, उसको आपके सामने यहाँ रखता हूँ-

१. कंटेंट (Content is king) : यह सिर्फ फेसबुक के लिए नहीं, बल्कि पूरे इंटरनेट व्यवसाय के लिए सत्य है. यदि आप इंटरनेट के किसी भी माध्यम से पैसा कमाना चाहते हैं, तो आपको अपने कंटेंट की प्रस्तुति को वजनदार रखना होगा. ओरिजिनल (original) रहे तो अच्छा, यदि न भी रहे तो उसकी प्रस्तुति(presentation) निश्चित रूप से अलग रहे. इसके साथ आपके कंटेंट में सम्बंधित तस्वीरें, लिंक्स (Links), सूत्रवाक्य (quotes) इसका वजन बढ़ाने के काम आते हैं. अब एक अच्छा कंटेंट, हेडिंग के साथ तैयार करके आप फेसबुक पर डाल सकते हैं. वैसे बेहतर यह रहता है कि यह कंटेंट आप किसी ब्लॉग (Blog) पर डालें और उससे भी बेहतर रहेगा यदि आप किसी सीएमएस वेबसाइट (CMS Website) पर डालकर फेसबुक पर उसका लिंक और परिचय भर दें. फिर अच्छे कंटेंट की चाह में आपकी वेबसाइट पर फेसबुक से ट्रैफिक आ सकता है. अपनी प्रोफाइल के अतिरिक्त आप ग्रुप (fb groups) का सहारा ले सकते हैं, जो एक बड़ा सोर्स है ट्रैफिक डायवर्ट करने का. पेज का पेड प्रमोशन भी कई मामलों में इस्तेमाल किया जा सकता है.

२. अफिलिएट प्रोग्राम (Affiliate Program): यदि आपने कंटेंट के मामले में समझदारी दिखा दी है तो फिर आगे का रास्ता बहुत मुश्किल नहीं. अधिकाँश लोग यहीं चूक जाते हैं. अगले स्टेप में आपको कुछ सम्बंधित अफिलिएट प्रोग्राम ढूंढने की जरूरत है. इसमें कुछ की लिस्ट मैं नीचे दूंगा. लेकिन अर्निंग के लिए सबसे ज्यादा गूगल एडसेंस इस्तेमाल किया जाता है. और यह सबसे विश्वसनीय होने के साथ-साथ स्पैम-फ्री (Spam-free) भी है. अधिकाँश अफिलिएट प्रोग्राम अविश्वसनीय होने के साथ स्पैम के अड्डे (Spammers) भी हैं, जो आपके पाठक को भ्रमित एवं परेशान करने में कसर नहीं छोड़ते हैं. फिर भी कुछ प्रोग्राम आप और इस्तेमाल कर सकते हैं. अफिलिएट प्रोग्राम में साइनअप करने के बाद अपनी डिटेल भरनी होती है, अपने ब्लॉग/ वेबसाइट के बारे में डिटेल भरनी होती है. गूगल एडसेंस यहाँ बहुत सख्त है, यदि आपका कंटेंट उसकी पॉलिसी के हिसाब से नहीं है तो यह आपके प्रयास को निष्फल कर देगा.(हिंदी को यह सपोर्ट नहीं करता है अभी, लेकिन अकाउंट अप्रूव होने के बाद आप विज्ञापन हिंदी वेबसाइट पर डाल सकते हैं).  अफिलिएट अकाउंट अप्रूव होने के बाद आपको अपने बैंक अकाउंट की जानकारी देनी होती है, फिर एक निश्चित राशि आपके अफिलिएट अकाउंट में जमा होने पर वह राशि आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है.

कुछ महत्वपूर्ण अफिलिएट प्रोग्राम हैं:

  1. https://www.google.com/adsense/

  2. https://www.flipkart.com/affiliate/signup

  3. https://affiliate-program.amazon.in/gp/associates/join/landing/main.html

  4. http://www.cj.com/

  5. http://www.affiliatefuture.co.uk/

  6. http://www.paidonresults.com/affiliates-sign-up.html

  7. https://www.apple.com/in/itunes/affiliates/

  8. http://www.omgpm.com/india/

सावधानी (Precautions):

  1. जल्दबाजी करने वाले बहुत जल्दी निराश होकर मैदान से बाहर हो जाते हैं. आपको इस मार्किट को समझने और कुछ कमाई के लेवल तक पहुँचने के लिए 6 महीने से 1 साल तक आराम से लग जाएंगे. वह भी तब जब आप प्रत्येक दिन 2 घंटे से ज्यादा समय देंगे. इसलिए जल्दी है तो यह काम शुरू ही न करें.

  2. कंटेंट कॉपी, पेस्ट करके आप अपनी मेहनत ही जाया करेंगे, इसका कोई फायदा नहीं. न तो आपका पाठक-वर्ग बनेगा, न ही इंटरनेट पर इसे कोई रैंकिंग मिलेगी. बल्कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की साख ख़राब ही होगी.

  3. थोड़ा बहुत तकनीकि समझ बढ़ाने की कोशिश फायदेमंद रहेगी इस श्रेणी में. जैसे किसी वेबसाइट को मैनेज कैसे किया जाय, ऑनपेज एसईओ क्या होता है, टैग, लेवल, इमेज ऑल्ट टेक्स्ट इत्यादि समझने पर बेहतर परिणाम आएंगे. (Get Knowledge)

  4. कभी इस तरह की ग़लतफ़हमी में न फंसे कि यहाँ क्लिक करने से, वहां क्लिक करने से, मेल करने से आप पैसे कमा लेंगे. (Stay away from spammers)

  5. साथ में कमाने के लिए कहीं भी पेड मेम्बरशिप नहीं लें. कई वेबसाइट इस तरह का झांसा देती हैं कि आप यदि इतने डॉलर की मेम्बरशिप लेंगे तो उतना कमा लेंगे. यह बिलकुल फ्रॉड है, झूठा जाल है आपको फंसाने के लिए.

  6. ट्रैफिक बढ़ाने के लिए आप फेसबुक की तरह के दुसरे सोशल नेटवर्क का भी सावधानी से इस्तेमाल कर सकते हैं. जैसे ट्विटर, स्टंबलउपॉन, गूगल प्लस आदि.

  7. बाकि सीरियस होने पर यदि आपको और जानकारी चाहिए, तो आप मुझे कभी भी संपर्क कर सकते हैं. My email ID is: mithilesh2020@gmail.com; Call at: +91- 9990089080



How to earn through facebook, guide/ information in hindi. Earning through Online Marketing and Precautions.

Precaution on internet market; how to earn on internet

Social Media Consultant Social Media Consultancy[/caption]

1 comment: